मृदा प्रदूषण पर निबंध | soil pollution essay in hindi

आज मैं आपको मृदा प्रदूषण पर निबंध बताने वाला हूं अगर आपको किसी और को दूसरे पर निबंध पढ़ना है तो मैंने उस पर लिख चुका है जैसे कि मैंने वायु प्रदूषण और जल प्रदूषण दोनों पर निबंध लिखा हुआ है अगर आपने उसको नहीं पढ़ा है तो उसको जाकर पढ़ लीजिए। {मृदा प्रदूषण पर निबंध}

मृदा प्रदूषण पर निबंध
मृदा प्रदूषण पर निबंध

◆ मृदा प्रदूषण पर निबंध ◆

मृदा प्रदूषण पर निबंध:- हमारी पृथ्वी पर कई प्रकार के प्रदूषण फैलते चले जा रहे हैं और इसमें वृद्धि बहुत तेजी से हो रही है और इसमें से मृदा प्रदूषण भी एक बहुत बड़ा प्रदूषण है इससे पृथ्वी को खतरा है। मृदा प्रदूषण को भूमि प्रदूषण या मिट्टी प्रदूषण भी कहा जाता है।

मृदा प्रदूषण

जिस तरह हमारी पृथ्वी पर मृदा प्रदूषण बढ़ता चला जा रहा है अगर लोग नहीं सुधरेंगे तो आगे चलकर पृथ्वी का विनाश हो सकता है। क्योंकि इसी पृथ्वी पर हम रहते हैं और इस पृथ्वी के सतह पर जो मिट्टी है इस पर हम पेड़ पौधे लगाते हैं और उस पेड़ पौधे से उगने वाला फल सब्जियां हम खाने में उपयोग करते हैं अगर यही पर मृदा प्रदूषण हो गया तो यह सब कुछ प्रक्रिया बंद हो जाएगा और इससे मानव जीवन और सभी जीव जंतुओं का जीवन संकट में आ जाएगा।

मृदा प्रदूषण के कारण

मृदा प्रदूषण के बहुत सारे कारण हैं और इसमें सबसे बड़ा हाथ हम इंसानों का ही है हम इंसान हैं अपने पृथ्वी के वातावरण को खराब कर रहे हैं लेकिन सभी लोग एक दूसरे को कोसते रहते हैं कि वह देखो वह प्रदूषण कर रहा है लेकिन खुद को नहीं देखते हैं तो चलिए अब हम जानते हैं कि हम मृदा प्रदूषण किन किन कारणों से करते हैं।

1. कभी ना नष्ट होने वाले सामान

हम पृथ्वी की सतह पर कई तरह के सामानों को फेंक देते हैं जैसे कि कांच की बोतल प्लास्टिक की पन्नी इसी तरह के और भी बहुत सारे चीजें होती हैं जिसे हम कबाड़ के रूप में मिट्टी में फेंक देते हैं और वह मिट्टी को खराब कर देता है क्योंकि यह सब मिट्टी में नहीं मिलती हैं और कुछ समान होते हैं जो मिट्टी में मिलकर मिट्टी को खराब करते हैं।

2. पेड़ का कटाव

पेड़ पौधे हमारे पृथ्वी के मिट्टी को शुद्ध बनाने में बहुत ही ज्यादा सहायक होते हैं लेकिन मानव पेड़ पौधों को बहुत तेजी से काट रहा है जिससे वायु प्रदूषण और मृदा प्रदूषण बहुत तेजी से बढ़ रहा है।

3. फैक्ट्रियों के कचड़े

हमारे भारत में कई तरह की फैक्ट्रियां हैं जो कई तरह के सामानों को बनाती है लेकिन उन सामानों को बनाने के बाद जो खतरनाक रसायनिक कचरा निकलता है, उसको मिट्टी में फेंक दिया जाता है जिससे मिट्टी का बहुत ही ज्यादा नुकसान होता है और इससे मृदा प्रदूषण बहुत तेजी से बढ़ता है।

4. अत्यधिक रसायनिक

आज के आधुनिक समय में किसानों को ज्यादा पैदावार करने के लिए अधिक रसायनों का इस्तेमाल करना पड़ता है लेकिन इससे पैदावार तो अच्छा हो जाता है लेकिन इससे मिट्टी खराब हो जाती है।

मृदा प्रदूषण के नुकसान

मृदा प्रदूषण के बहुत सारे नुकसान हैं अगर हम मृदा प्रदूषण को कम नहीं करते हैं तो इससे जब खेतों में फसल नहीं हो पाएगा और पेड़-पौधों का जीवन समाप्त होने लगेगा तो मानव जीवन भी धीरे-धीरे समाप्त होने लगेगा क्योंकि मानव को जीवित रहने के लिए भोजन और ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है लेकिन जब पेड़ पौधे ही नहीं रहेंगे तुम मानव और जीव-जंतुओं को भोजन और हवा कहां से मिलेगा।

मृदा प्रदूषण को कम करने के उपाय

बढ़ते मृदा प्रदूषण को कम करने के बहुत से उपाय हैं लेकिन इसमें सभी लोगों का साथ चाहिए किसी एक व्यक्ति के सोचने से यह नहीं होगा इसमें सभी लोगों का साथ चाहिए होगा और सभी लोग यह ठानेगे कि मैं मृदा प्रदूषण नहीं करूंगा तो मृदा प्रदूषण धीरे-धीरे खत्म हो जाएगा।

1. कचरा फेंकना बंद करें

सबसे पहले आपको खुद को बदलना होगा इसलिए आप कोई भी ऐसा काम मत करिए जिससे मृदा प्रदूषण या कोई भी प्रदूषण हो सबसे पहले आप अपने घर के कचरे को मिट्टी में ना फेंके और आप कोई भी सामान प्लास्टिक के थैले में ना लें क्योंकि यह थैला बहुत ही ज्यादा मृदा के लिए नुकसानदायक होता है।

2. फैक्ट्री के कचरे को मिट्टी में न फेंके

फैक्ट्रियों से निकलने वाले खतरनाक रसायनिक किशोरों को मिट्टी में ना फेंका जाए क्योंकि इससे बहुत ही ज्यादा मृदा प्रदूषण बढ़ता है।

3. पेड़ लगाएं

अगर आप पेड़ लगाते हैं तो इससे कई तरह के प्रदूषण कम होते हैं और साथ ही मृदा प्रदूषण भी कम होता है पेड़ लगाना रामबाण इलाज है अगर आप जितना ज्यादा हो सके पेड़ लगाएंगे तो सभी तरह के प्रदूषण तेजी से खत्म होने लगेंगे।

4. सीमित रसायन का इस्तेमाल

खेतों में इस्तेमाल होने वाला रसायन कई तरह के होते हैं तो हमें खेतों में हानिकारक रसायनों का इस्तेमाल नहीं करना है यह रसायन पैदावार तो बढ़ाते हैं लेकिन मिट्टी को खत्म करते चले जाते हैं।

उपसंघार ( निष्कर्ष )

हमे प्रदूषण को कम करने के लिए सभी लोगों का साथ होना जरूरी है और पेड़ पौधे लगाना और मिट्टी में कचरे और कभी न खत्म होने वाले सामानों को फेंकना बंद करना होगा तभी मृदा प्रदूषण पर काबू किया जा सकता है। ( मृदा प्रदूषण पर निबंध समाप्त )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *