Skip to content

कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध – Kanya Bhrun Hatya par Nibandh

आज इस पोस्ट में हम कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध (kanya bhrun hatya par nibandh) पढ़ेंगे, कन्या भ्रूण हत्या बहुत बड़ा अपराध और हमारे देश की समस्या है इसलिए इस निबंध को परीक्षाओं में पूछा जाता है ताकि लोगों को सही जानकारी मिले और इस अपराध को होने से रोका जाए।

female Foeticide
female Foeticide Essay in Hindi – Kanya Bhrun Hatya par Nibandh

प्रस्तावना

पुराने जमाने में जब विज्ञान ने तरक्की नहीं की थी तब बहुत से लोग अज्ञानता के कारण लड़कियों को श्राप मानते थे, चलिए बहुत से लोग के घर में जब कोई लड़की जन्म लेती थी तो उसकी हत्या कर दी जाती थी और फिर धीरे-धीरे आज के समय में आधुनिक उपकरण का आविष्कार हो चुका है जिससे पेट में पलने वाले बच्चे को पहले से ही पता कर लिया जाता है कि वह एक लड़की है या लड़का।

इसी कारण बहुत से अज्ञानी लोगों को जब यह पता चलता था कि पेट में लड़की पल रही है तो दवाइयों और आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करके उस लड़की को पेट में ही मार दिया जाता है।

कन्या भ्रूण हत्या के कारण हमारे देश में लड़कियों की संख्या कम है और लड़कों की संख्या ज्यादा है 2019 के जनगणना के अनुसार 100 महिलाओं पर 107 पुरुष हैं।

कन्या भ्रूण हत्या अपराध को लेकर भारत सरकार के कानून

हालांकि हमारे भारत सरकार ने बहुत से कड़े कानून बना रखे हैं जिससे कन्या भ्रूण हत्या को रोका जा सके और पहले के मुकाबले आज के समय में यह सब नहीं होता है क्योंकि पहले के लोग ज्यादा जागरूक नहीं थे और आज के समय में लगभग सभी लोग जागरूक हैं।

लेकिन फिर भी कहीं कहीं ऐसे लोग होते हैं जो कानून को तोड़कर पैसे के दम पर पेट में पलने वाले बच्चे का लिंग पता कर लिया जाता है और उससे जन्म लेने से पहले ही मार दिया जाता है।

भारत सरकार की तरफ से यह कहा गया है कि कहीं भी कन्या भ्रूण हत्या जैसा अपराध किया जा रहा है तो उस अपराधी के बारे में जानकारी देने वाले को सरकार की तरफ से ₹10000 का इनाम दिया जाएगा।

और जो व्यक्ति कन्या भ्रूण हत्या का अपराध कर रहा है उसे धारा 313, 314 और 315 के तहत उस पर कड़ी सुनवाई की जाएगी और उसे दंड दिया जाएगा।

कन्या भ्रूण हत्या के कारण

कन्या भ्रूण हत्या के बहुत सारे कारण हैं जैसे कि –

  • पुराने समय से चले आए रहे रीति रिवाज जैसे कि लोग सोचते हैं कि अगर हमारे घर में लड़की होगी तो हमें अपना वंश आगे कैसे बढ़ेगा।
  • लोग सोचते हैं कि अगर हमारे घर में लड़की होगी तो दहेज में पैसे देने होंगे और उसके पालन-पोषण में बहुत ज्यादा पैसे खर्च होंगे।
  • बहुत से परिवार में गर्भवती महिला को उनके परिवार के लोगों द्वारा दबाव बनाया जाता है कि एक लड़का पैदा करो और जबरदस्ती पेट में पल रहे बच्चे की जांच कराई जाती है और लड़की होने पर पेट में ही उसकी हत्या कर दी जाती है।
  • कई परिवार अज्ञान और मूर्ख होने के कारण बेटी को पेट में ही मार दिया जाता है।

कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए उपाय

जैसा कि हम जानते हैं कि हमारी सरकार कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए पूरी कोशिश कर रही है और इसमें हमारी भारत सरकार सफल भी हो रही है जैसे जैसे लोगों को ज्ञान होता जा रहा है, और उन्हें यह समझ में आ रहा है कि लड़का और लड़की एक समान है।

और आज के समय में तो लड़कियां लड़कों से पढ़ाई और खेलकूद के मामले में भी आगे जा रही हैं इसलिए अब कन्या भ्रूण हत्या बहुत ही कम होता है लेकिन अब भी कुछ ऐसे लोग पड़े हैं जो अभी तक यह बात नहीं समझ पाए हैं।

अगर हमें कहीं भी कन्या भ्रूण हत्या के बारे में पता चलता है तो हमें तुरंत पुलिस को फोन कर देना चाहिए ताकि उस व्यक्ति को दंड मिल सके जो इतना बड़ा अपराध करने जा रहा है या कर चुका है।

सरकार ने बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ अभियान भी चलाया है जिसमें सभी लोगों को पता चल रहा है कि लड़का लड़की एक समान है।

उपसंघार

कन्या भ्रूण हत्या बहुत बड़ा अपराध है इसे हमे न ही करना है और न किसी को करने देना है, लड़का लड़की एक समान है लड़का भी अपने घर परिवार के लिए मेहनत करता है और लड़की भी अपने घर परिवार के लिए मेहनत करती है। हमे सभी को समान नजरो से देखना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.