Hindi Nibandh | हिन्दी निबंध क्या है कैसे लिखें ? Essay in Hindi

नमस्कार दोस्तों आज हम जानेंगे कि हिंदी निबंध क्या होता है, निबंध को हिंदी में कैसे लिखा जाता है और Hindi Nibandh हमारे जीवन में क्या महत्व रखती है और उदाहरण के लिए मैं कुछ निबंध लिख कर आपको दिखाऊंगा जिससे आपको पता चलेगा कि निबंध का असली मतलब क्या होता है।

निबंध क्या है?

निबंध शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है नि+बंध

और इसका अर्थ होता है भली-भांति बंधी हुई रचना,

मतलब की कोई ऐसी रचना जिसे विचार पूर्वक क्रमबद्ध रूप से लिखा गया हो उसे निबंध कहा जाता है।

निबंध लेखन का विषय

निबंध किसी भी विषय पर लिखा जा सकता है चाहे वह किसी भी क्षेत्र का हो इस पृथ्वी पर जितने भी वस्तु जीव जंतु पेड़ पौधे इत्यादि हैं, इन सभी पर निबंध लिखा जा सकता है, इस संसार में हर चीज एक निबंध है।

निबंध का मतलब होता है कि किसी भी विषय के बारे में एक सीमित शब्दों में या अधिक से अधिक शब्दों में उस विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी देना।

essay in hindi nibandh
Hindi Nibandh- Essay in hindi

निबंध लिखने का तरीका – how to write an essay in hindi

निबंध को लिखने का तरीका सही हो तो परीक्षा में हमें ज्यादा अंक प्राप्त हो सकते हैं कुछ लोग निबंध बिना तरीके के लिख देते हैं जिससे उन्हें अच्छे अंक प्राप्त नहीं होते हैं निबंध लिखने का एक तरीका होता है जो इस प्रकार होता है।

किसी भी विषय पर निबंध लिखने के लिए आपको उस निबंध को तीन भागों में बांटना होता है जैसे कि

  1. प्रस्तावना या परिचय
  2. मुख्य भाग
  3. निष्कर्ष या उपसंघार

1. परिचय

सबसे पहले आपको अपने विषय पर परिचय या प्रस्तावना हेडिंग डालकर उसके बारे में कम शब्दों में बताना होता है।

2. मुख्य भाग

मुख्य भाग में आपको अपना पूरा निबंध लिखना है जिस भी विषय पर आप निबंध लिख रहे हैं उसके बारे में आपके मन में जो भी विचार है मुख्य भाग में लिख सकते हैं और आप चाहे तो इसके अंदर कई भागों में बांट सकते हैं।

3. निष्कर्ष

इस आखिरी भाग में आपको उस निबंध के विषय पर आपको निष्कर्ष लिखना होता है मतलब कि उस विषय पर क्या निष्कर्ष निकलता है।

तो निबंध को इस प्रकार भागों में बांट कर लिखा जाता है उदाहरण के लिए आप नीचे दिए गए किसी भी निबंध को देख सकते हैं, और निबंध लिखने के लिए और भी बहुत सारे बातों का ध्यान देना होता है जैसे कि-

  1. निबंध लिखने में सरल भाषा का इस्तेमाल करें।
  2. जिस विषय पर आपको निबंध लिखना है उसी विषय के बारे में लिखें।
  3. लिखने के बाद पढ़े और उसमें से गलतियों को सुधारें।
  4. अगर आप परीक्षा में निबंध लिख रहे हैं तो आपको उस निबंध के बारे में सही सही अच्छे जानकारी होनी चाहिए।

दिवाली पर निबंध | Diwali essay in hindi

प्रस्तावना

दीपावली हिंदुओं का प्रमुख त्योहार है इस त्यौहार पर सभी लोग बहुत ही खुशी खुशी इस त्यौहार को मनाते हैं और यह त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत होने की खुशी में मनाया जाता है।

दिवाली की कथा

दिवाली त्योहार को कई नामों से जाना जाता है जैसे कि दीपों का त्यौहार दीपावली इत्यादि, श्री राम को अपनी माता की आज्ञा मानते हुए 14 वर्ष का वनवास किया था और जिस दिन श्री राम ने 14 वर्ष का वनवास पूरा करके अपने राज महल अयोध्या वापस आ रहे थे, उस दिन पूरे अयोध्या वासियों ने पूरे अयोध्या को दीपों से सजा दिया था। उस दिन एक को एक त्यौहार की तरह मनाया गया था।

श्री राम जब वनवास गए थे तो उन्होंने कई सारे राक्षसों और पापियों का विनाश किया और उन्होंने सबसे बड़े राक्षस रावण का भी विनाश किया, रावण ने सीता माता का हरण कर लिया था जिससे श्रीराम क्रोधित हो गए और उन्होंने वानर सेना के साथ मिलकर लंका पर आक्रमण कर दिया और कई दिनों के युद्ध के बाद रावण का अंत हो गया।

इसीलिए दीपावली के पहले दशहरे का त्यौहार मनाया जाता है इस त्यौहार पर रावण के पुतले को जलाया जाता है और इस दिन को दशहरा के नाम से भी जाना जाता है।

दीपावली

दीपावली का त्यौहार आने से कई दिन पहले मेरे घर में मेरे मम्मी और बहन मिलकर पूरे घर की साफ सफाई कर लेते हैं और मैं भी इन सभी कामों में हाथ बता देता हूं ताकि काम जल्दी हो जाए।

दीपावली त्यौहार के दिन सभी के घरों में अच्छे-अच्छे पकवान बनते हैं और सभी लोग एक दूसरे को दीपावली की शुभकामनाएं देते हैं जिस दिन बच्चे पटाखे खरीदते हैं जिसे फोड़कर इस त्योहार को मनाते हैं।

इस त्यौहार के दिन सभी लोग नए नए कपड़े पहनते हैं और शाम को गणेश जी और लक्ष्मी जी की पूजा की जाती है। माना जाता है कि दीपावली के दिन सभी के घरों में लक्ष्मी माता आती है इसलिए उनकी पूजा की जाती है।

पूजा खत्म होने के बाद सभी बच्चे अपने बड़ों का पैर छूकर आशीर्वाद लेते हैं।

दीपावली के त्यौहार पर कुछ लोग त्यौहार नहीं मना पाते हैं क्योंकि उनके पास पैसे नहीं होते हैं तो हमें ऐसे लोगों की मदद करनी चाहिए हम से जो भी हो सके उन्हें कुछ पैसे और कपड़े दे दे ताकि उनकी भी दिवाली अच्छे से हो सके।

निष्कर्ष

दीपावली खुशियों का त्योहार है इस त्यौहार को बहुत ही ज्यादा धूमधाम से मनाया जाता है लेकिन इस त्यौहार पर हमें कुछ सावधानियां रखनी चाहिए जैसे कि पटाखे छुड़ाते समय हमें उनसे उचित दूरी बनाए रखनी चाहिए और हो सके तो पटाखे ना छुड़ाएं क्योंकि इससे प्रदूषण बढ़ता है और हमारी पृथ्वी का खतरा भी बढ़ता है।

मेरा विद्यालय पर निबंध | Essay on My School in Hindi

प्रस्तावना

विद्यालय हमारे जीवन में बहुत बड़ा महत्व रखता है विद्यालय में हमें विद्या प्राप्त होती है इसीलिए विद्यालय को मंदिर के समान माना जाता है।

विद्यालय

विद्यालय एक ऐसा स्थान है जहां पर कई सारे बच्चे एक साथ इकट्ठा होकर पढ़ाई करते हैं विद्यालय में अध्यापक बच्चों को पढ़ाते हैं और उन्हें अच्छे-अच्छे बातें सिखाते हैं मैं भी विद्यालय में पढ़ता हूं।

विद्यालय बहुत बड़े मैदान में बना होता है विद्यालय में बहुत सारी चीजें होती हैं जैसे कि खेलने के लिए एक बहुत बड़ा मैदान होता है और उसी मैदान में रोज सुबह-सुबह प्रार्थना की जाती है विद्यालय में कई सारे अध्यापक होते हैं जो बच्चों को पढ़ाते हैं।

मेरे विद्यालय के चारों तरफ एक बहुत बड़ी दीवार है जिससे पूरा विद्यालय उस दीवार के अंदर सुरक्षित रहता है और उच्च विद्यालय में कई सारे कमरे होते हैं जिसमें तरह-तरह के कक्षाएं चलती हैं मेरे स्कूल में एक चपरासी भी है जो कि स्कूल की देखरेख करते है।

और एक माली है जो पौधों को पानी देने का काम करते हैं इसी प्रकार और भी बहुत सारे सदस्य हैं जो स्कूल में रहकर स्कूल की देखरेख करते हैं और उसकी साफ सफाई करते हैं।

विद्यालय में पढ़ाई के साथ-साथ खेलकूद भी कराया जाता है मैंने कई सारे खेल खेले हैं और कई सारी प्रतियोगिताओं में मैंने जीत भी हासिल की है।

सभी विद्यार्थी सभी अध्यापकों का आदर करते हैं और रोज उनके पैर स्पर्श करके या उनसे नमस्ते करके उनका आशीर्वाद लेते हैं मेरे स्कूल में बहुत ही अच्छे अच्छे अध्यापक हैं जो कि हमें बहुत ही अच्छे से पढ़ाते हैं।

मेरे स्कूल में प्रधानाचार्य भी हैं जो कि पूरे स्कूल की व्यवस्था को संभालते हैं प्रधानाचार्य जी स्कूल के मुख्य सदस्य होते हैं जो बहुत ही ध्यान से सारे कार्यों को करते हैं और अपने स्कूल में अच्छे से पढ़ाई का कार्यक्रम चलाते हैं।

निष्कर्ष

यदि हमारे जीवन में स्कूल ना हो तो हमें अच्छा ज्ञान और सही ज्ञान कभी नहीं मिल सकता है इसलिए हम स्कूल जाकर अच्छे-अच्छे बातों को सीखते हैं और समझते हैं।

क्रिकेट पर निबंध | Hindi essay on cricket

प्रस्तावना

क्रिकेट एक बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध खेल है हमारे भारत देश में क्रिकेट बहुत ही ज्यादा खेला जाता है इसकी लोकप्रियता बहुत ही ज्यादा तेजी से बढ़ती जा रही है आज के समय में हर शहर और गांव में क्रिकेट खेल को खेला जाता है।

क्रिकेट खेल

क्रिकेट खेल के इतनी ज्यादा लोकप्रियता है कि इसे लगभग हर देश में पसंद किया जाता है और इस खेल की प्रतियोगिताएं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी होती हैं जब भी क्रिकेट खेल की प्रतियोगिता शुरू होने वाली होती है तो सभी लोग अपना अपना काम करके पहले से ही टीवी चालू करके क्रिकेट देखने के लिए बैठ जाते हैं।

हमारे स्कूल में भी क्रिकेट खेल की प्रतियोगिताएं होती रहती है मैंने कई बार क्रिकेट खेल की प्रतियोगिता में भाग लिया है और कई बार जीत भी हासिल की है क्रिकेट खेल बहुत ही अच्छा खेल है इस खेल को खेलने के लिए हमें फुर्ती और दिमाग का इस्तेमाल करना होता है।

क्रिकेट के खेल में 2 टीम होते हैं और हर एक टीम में 11-11 खिलाड़ी होते हैं और इसमें एक निर्णायक होता है जो कि खेल को सुचारू रूप से चलाने में मदद करता है।

क्रिकेट खेल को लकड़ी से बने बल्ले और रबड़ से बने गेंद से खेला जाता है क्रिकेट खेल का मैदान बहुत बड़ा होता है इस खेल को खेलने के लिए हमें घरों से बाहर जाकर खेलना होता है इस खेल को घर के अंदर नहीं खेला जा सकता है।

मैदान के चारों तरफ एक रेखा से घेरा बना रहता है जिसके बीच में क्रिकेट खेल खेला जाता है, क्रिकेट खेल की शुरुआत टॉस से होती है जो टीम टॉस जीत जाता है वह टीम निर्णय लेता है कि वह पहले गेंद फेंके का या फिर बैटिंग करेगा।

इस खेल में बैट्समैन को बेड की मदद से गेंद को घेरे से बाहर मारना होता है और दूसरी टीम के खिलाड़ी उस गेंद को बाहर जाने से रोकते हैं इस खेल में 6 गेम का एक ओवर होता है।

एक ओवर खत्म होने के बाद दूसरा गेंदबाज आता है और वह गेम को खेलता है इस खेल में और भी कुछ नियम होते हैं जिनका पालन करते हुए खेल खेला जाता है और पहले टीम जितना अंक बनाती है।

फिर दूसरी टीम बैटिंग करके उससे ज्यादा रन बनाने की कोशिश करती है अगर दूसरी टीम पहले वाले टीम से ज्यादा अंक बना लेता है तो दूसरी टीम इस प्रतियोगिता को जीत जाता है अगर दूसरी टीम उतने रन नहीं बना पाती है तो वह टीम इस प्रतियोगिता को हार जाता है।

उपसंहार

इन क्रिकेट खेल को खेलने के लिए हमारे शरीर और दिमाग के बहुत ज्यादा ही आवश्यकता होती है जिससे हमारे शरीर का व्यायाम हो जाता है और इससे हमारा शरीर स्वस्थ रहता है और हमें ज्यादा बीमारियां नहीं होती है।

प्रदूषण पर निबंध | Hindi essay on pollution

प्रस्तावना

प्रदूषण एक बहुत ही बड़ी समस्या है जिससे हमारी पृथ्वी और उस पर रहने वाले जीव जंतुओं पेड़ पौधों को बहुत ही ज्यादा खतरा है प्रदूषण मनुष्य के द्वारा सबसे ज्यादा होता है।

प्रदूषण

प्रदूषण कई प्रकार के होते हैं जैसे कि वायु प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण, जल प्रदूषण, मृदा प्रदूषण इत्यादि।

जल प्रदूषण

सभी तरह के प्रदूषण किसी न किसी कारण से बढ़ते जा रहे हैं जैसे कि जल प्रदूषण में गंदे पानी को साफ जल में फेंक दिया जाता है या फिर कचड़े को फेंका जाता है और साफ पानी में जानवरों को नहलाया जाता है और उसमें केमिकल भी फेंक दिया जाता है जिससे जल प्रदूषण बहुत ही ज्यादा बढ़ता है।

और बहुत से लोग जल को फालतू में खराब करते हैं जैसे कि इन्हें एक गिलास पानी की आवश्यकता होती है लेकिन नेट चालू करके छोड़ देते हैं और पानी फालतू में बहता रहता है कुछ लोग तो नल को चालू करके उसका इस्तेमाल करते हैं और उसे बंद करना ही भूल जाते हैं।

रोकथाम:- जल प्रदूषण को कम करने के लिए हमें फालतू का पानी नहीं खराब करना है और साफ पानी में में किसी प्रकार का कचरा गंदा पानी नहीं मिलाना है और ऐसा में कोई भी कार्य नहीं करना है जिससे जल प्रदूषण बढ़े।

वायु प्रदूषण

इसी प्रकार वायु प्रदूषण में लोग साफ वातावरण में भी फैक्ट्रियों से निकलने वाले जहरीले दोनों को छोड़ते हैं जिससे वह प्रदूषण बढ़ता है और लोगों को सांस लेने में तकलीफ होती है वह प्रदूषण रोज बढ़ता जा रहा है जिससे भविष्य में बहुत ही बड़ी समस्या उत्पन्न हो सकती है।

आज के भारत के कई शहरों में वह प्रदूषण बढ़ता जा रहा है जैसे कि दिल्ली में बहुत ही ज्यादा तेजी से वह प्रदूषण बढ़ता जा रहा है वहां पर सांस लेना भी बहुत ज्यादा मुश्किल हो जाता है कभी-कभी तो दिखाई भी सही से नहीं देता है क्योंकि दिल्ली में सबसे ज्यादा गाड़ियां और फैक्ट्रियां चलती है जिससे बहुत ही ज्यादा वायु प्रदूषण होता है।

रोकथाम:- वायु प्रदूषण को कम करने के लिए हमें वाहनों का कम इस्तेमाल करना होगा आज के समय में बैटरी से चलने वाले वाहन का भी आविष्कार हो गया है तो हमें उनका उपयोग करना चाहिए ताकि वायु प्रदूषण कम हो सके और हमें प्लास्टिक या किसी भी तरह के सामान को नहीं जलाना चाहिए क्योंकि उससे जहरीला धुआं निकलता है और वह प्रदूषण बढ़ता है।

ध्वनि प्रदूषण

आज के आधुनिक समय में बहुत ही तेज बजने वाले हॉर्नऔर साउंड सिस्टम बनाए जा रहे हैं जिससे बहुत ही ज्यादा तेजी से ध्वनि निकलती है ध्वनि मनुष्य के हृदय पर असर करता है जिससे उन्हें कई प्रकार की बीमारियां होती हैं ध्वनि प्रदूषण सबसे ज्यादा गाड़ियों से होता है क्योंकि बहुत से लोग गाड़ियों के हॉर्न फालतू में ही बजाते रहते हैं।

रोकथाम:- ध्वनि प्रदूषण को कम करने के लिए हमें सबसे ज्यादा जागरूक होना होगा और लोगों को भी जागरूक करना होगा क्योंकि बहुत से लोग बेवकूफी करते हैं और ट्रैफिक में फालतू में ही फार्म बजाते रहते हैं और कई सारे जगहों पर साउंड सिस्टम लगे रहते हैं जो कि बहुत ही ज्यादा ध्वनि प्रदूषण करते हैं तो उन पर भी कुछ सीमित नियम लगाने पड़ेंगे।

मृदा प्रदूषण

मृदा प्रदूषण सबसे ज्यादा कचरे से होता है बहुत से लोग घर के कचरे मिट्टी में फेंक देते हैं जिसमें खतरनाक कभी ना नष्ट होने वाले प्लास्टिक की थैलियां होती हैं जो मिट्टी में जाकर दब जाते हैं और मिट्टी को दूषित करते रहते हैं।

जब मिट्टी पर कई प्रकार के हानिकारक केमिकल फेंक दिए जाते हैं तो उससे भी मृदा प्रदूषण होता है, मृदा प्रदूषण बढ़ने से उपजाऊ मिट्टी खत्म होती जाती है जिससे उस पर किसी भी तरह का फसल या पेड़ पौधे नहीं उगते हैं।

जिससे आगे चलकर बहुत बड़ी समस्या उत्पन्न हो सकती है क्योंकि जब पेड़ पौधे नहीं हुए हैं तो ऑक्सीजन और खाना कहां से मिलेगा जो कि जीव जंतुओं और मनुष्यों के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी है।

रोकथाम:- मृदा प्रदूषण कम करने के लिए हमें मिट्टी में किसी भी तरह के खतरनाक प्लास्टिक की थैली और बोतल को नहीं फेंकना होगा और हमें मिट्टी में किसी भी खतरनाक केमिकल को नहीं सीखना होगा क्योंकि इन सब से बहुत ही ज्यादा मिट्टी दूषित होती है।

महात्मा गांधी पर निबंध | mahatma gandhi essay in hindi

प्रस्तावना

महात्मा गांधी एक महान व्यक्ति थे जिन्होंने भारत देश को अंग्रेजों से आजाद कराने में बहुत बड़ा सहयोग दिया था गांधीजी किसी भी कार्य को शांतिपूर्ण करना पसंद करते थे।

महात्मा गांधी

महात्मा गांधी जी का नाम मोहनदास करमचंद गांधी था इनका जन्म 1989 में 2 अक्टूबर को पोरबंदर में हुआ था। इसलिए आज भी हर साल 2 अक्टूबर को गांधी जी का जन्मदिन मनाया जाता है जिस दिन सभी स्कूलों कॉलेजों में गांधी जी के बलिदान को याद किया जाता है और उनके महान कार्य को सभी बच्चों को सुनाया जाता है।

महात्मा गांधी जी एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने अपना पूरा जीवन भारत देश को आजाद कराने में लगा दिया, महात्मा गांधी जी ने विदेशी वस्तुओं का त्याग कर दिया और स्वदेशी वस्तुओं का इस्तेमाल करने लगे उन्होंने भारत के और सभी लोगों से भी यही करने को कहा।

महात्मा गांधी जी का विवाह 13 साल की उम्र में कस्तूरबा बाई से हो गया था कस्तूरबा बाई ने अपना पत्नी धर्म निभाते हुए गांधी जी का सभी कार्यों में सहयोग दिया।

गांधी जी की पढ़ाई भारत में कोई और बाकी की पढ़ाई पूरा करने के लिए इंग्लैंड चले गए और वहां से वकील बनकर भारत वापस आए। गांधी जी अछूत और भेदभाव को खत्म करना चाहते थे।

इसी प्रकार गांधी जी ने अपने जीवन में बहुत सारी लड़ाइयां लड़ी और भारत देश को आजाद कराया भारत देश को आजाद कराने में गांधीजी और भी बहुत सारे वीर स्वतंत्रता सेनानियों का बहुत बड़ा सहयोग था।

30 जनवरी 1984 को नाथूराम ने गांधी जी की हत्या कर दी। गांधी जी आज भी भारत के सभी लोगों के दिलों में जिंदा हैं भारत में गांधी जी को प्यार से बापू भी कहते हैं।

उपसंघार

गांधी जी एक बहुत ही अच्छे और अहिंसा वादी पुरुष थे गांधी जी के कार्य से आज ही बहुत से लोग सीख लेते हैं और हमें भी उनके महान कार्यों से सीख लेना चाहिए।

हिंदी निबंध की किताब | Hindi nibandh Books

अगर आपको हिंदी निबंध की किताब पढ़ना चाहते हैं तो उसके लिए मैं आपको नीचे कुछ अच्छे किताब के लिंक दे रहा हूं, जिस पर आप क्लिक करके इन सभी अच्छे किताबों को आप खरीद सकते हैं, वैसे तो इस वेबसाइट पर आपको सारे निबंध मिल जाएंगे जो कि एकदम मुफ्त में है, लेकिन फिर भी आपको किताब खरीदना है तो इन किताबों को देख सकते हैं।

Nibandh-Drishti

किताब का नामNibandh-Drishti (Hindi, Paperback, Dr. Vikas Divyakirti, Nishant Jain)
रेटिंग4.4
दामFlipkart-275 || Amazon-255
भाषाहिन्दी

यहां पर मैंने आपको हिंदी निबंध के बारे में पूरी जानकारी दे दी है अगर आपको और भी बहुत सारे हिंदी निबंध को पढ़ना चाहते हैं तो उसके लिए इस वेबसाइट पर सर्च करके पढ़ सकते हैं। मैंने इस वेबसाइट पर बहुत सारे निबंध को पब्लिश किया है और आगे चलकर नए-नए निबंध पब्लिश करता रहूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *