आम पर निबंध / aam par nibandh – Essay on Mango In Hindi

आज मैं आपको आम के फल पर निबंध बताऊंगा और आम के बारे में कुछ जानकारी दूंगा जैसे कि आम का फल में कौन-कौन से विटामिन होते हैं आम के फल से क्या फायदा होता है इसी प्रकार के आपको और भी सवालों के जवाब इसी हिंदी निबंध में देने वाला हूं तो चलिए अब हम अपना आम पर निबंध शुरू करते हैं।

आम पर निबंध

◆ आम के फल पर निबंध ◆

प्रस्तावना:-

आम के फल को सभी फलों का राजा कहा जाता है या फल मुझे बहुत पसंद है या फल खाने में मीठा होता है यह फल कई आकार में आते हैं आम का फल पेड़ों पर होता है।

आम का फल

यह फल ज्यादातर गर्मियों के समय में होता है मेरे घर में मेरे पापा गर्मियों के समय में बहुत सारे आम लाते हैं जिसे हम सभी लोग बड़े अच्छे से खाते हैं यह फल खाने में बहुत ही अच्छा लगता है आम अगर पक्का हो तो मीठा लगता है और कच्चा हो तो खट्टा लगता है।

मुझे मीठा आम पसंद है लेकिन बहुत से लोगों को खट्टा आम पसंद होता है, आम के फल बड़े बड़े पेड़ों पर होता है और पेड़ों पर ही पकता है लेकिन आज के समय में कुछ लोग आम को केमिकल की मदद से भी पकाते हैं लेकिन शुद्ध आम वही होता है जो पेड़ों पर पकता है।

आम कई आकार में पाए जाते हैं कुछ आम छोटे होते हैं और कुछ हम बड़े होते हैं, और आमों से कई सारी चीजें बनाई जाती हैं जैसे कि आम की चटनी, आम का अचार, आम का रस इत्यादि।

आम में विटामिन ए बी डी पाई जाती है जोकि हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक होती है इसलिए हमें आम को खाना चाहिए, बाजार में कुछ लोग आम का जूस बेचते हैं आप उसे भी पी सकते हैं लेकिन कुछ कंपनियां हैं जो यह दावा करते हैं कि उनका जोश पूरी तरह से आम का बना हुआ है लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता है उसमें कुछ केमिकल का भी इस्तेमाल किया जाता है और यह हमारे शरीर के लिए लाभ नहीं पहुंचाता है।

पूरी पृथ्वी पर सबसे ज्यादा आम का पैदावार भारत में ही होता है हमारे भारत में 60% आम का उत्पादन किया जाता है भारत के आमों को बाहर भी दूसरे देशों में भेजा जाता है।

निष्कर्ष

आम बहुत ही शुद्ध फल है इसे हमें खाना चाहिए यह हमारे शरीर को बहुत ही ज्यादा फायदा पहुंचाती है आम के पत्तियो का भी कई सारे चीजों में इस्तेमाल किया जाता है हिंदू धर्म में आम के पत्तियो से पूजा की जाती है आम के इतने ज्यादा उपयोग होने के कारण ही आम को फलों का राजा कहा जाता है। ( आम पर निबंध समाप्त 400 शब्दों में )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *