सरस्वती पूजा पर निबंध । saraswati puja par nibandh hindi mein

प्रस्तावना

सरस्वती पूजा हिंदुओं का प्रमुख त्योहार है इस त्यौहार पर मां सरस्वती की पूजा की जाती है देवी सरस्वती को ज्ञान की देवी कहते हैं। सरस्वती जी की पूजा हर साल बसंत पंचमी के दिन होती है।

इस दिन सभी लोग सरस्वती मां की पूजा करते हैं और उनसे बुद्धि और ज्ञान प्राप्त करने का आशीर्वाद लेते हैं जिस दिन सभी स्कूल कॉलेज में इनकी पूजा की जाती है और पीले रंग के फल भी चढ़ाए जाते हैं।

सरस्वती माता की पूजा में घी के दिए जलाए जाते हैं और मंत्र का जाप किया जाता है और प्रसाद भी चढ़ाया जाता है पूजा खत्म होने के बाद सभी लोग प्रसाद ग्रहण करते हैं और मां का आशीर्वाद लेकर चले जाते हैं।

सरस्वती पूजा भारत के साथ-साथ नेपाल और बांग्लादेश में भी बड़े हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है। इस दिन विष्णु और कामदेव की भी पूजा की जाती है।

सरस्वती पूजा सरस्वती देवी के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। माता सरस्वती की सवारी मोर होती है जो कि बहुत ही ज्यादा सुंदर होती है।

इस दिन सभी स्कूल कॉलेजों में सांस्कृतिक कार्यक्रम भी किए जाते हैं जिसमें लोग नाटक और संगीत आदि प्रस्तुत करते हैं।

इस दिन विद्यार्थी इस त्यौहार को बड़े धूमधाम से मनाते हैं क्योंकि उन्हें विद्या ग्रहण करने में सरस्वती मां का आशीर्वाद बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है।

सरस्वती पूजा पर निबंध 10 लाइन

  1. सरस्वती पूजा हिंदुओं का प्रमुख त्यौहार है।
  2. जिस दिन सरस्वती मां की पूजा की जाती है।
  3. सरस्वती मां को विद्या की देवी कहा जाता है।
  4. सरस्वती माता के पूजा हर साल बसंत पंचमी को किया जाता है।
  5. इस दिन सभी शिक्षण संस्थानों में सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं।
  6. सरस्वती पूजा भारत के साथ-साथ बांग्लादेश और नेपाल में भी किया जाता है।
  7. देवी सरस्वती की सवारी मोर है।
  8. इस दिन सभी लोग मंदिरों में सरस्वती मां की पूजा करते हैं।
  9. मंदिरों में जल सफेद और पीले रंग के फूल आदि चढ़ाए जाते हैं।
  10. सभी लोग सरस्वती मां से आशीर्वाद मांगते हैं कि उन्हें जीवन में सुख समृद्धि मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *