बाल मजदूरी पर निबंध – Child Labour Essay in Hindi

बाल-मजदूरी-पर-निबंध
Child Labour Essay in Hindi

बाल मजदूरी पर निबंध 900 शब्दो मे

प्रस्तवना

हमारे भारत देश में बाल मजदूरी बहुत ज्यादा होती है, बाल मजदूरी से बहुत से बच्चे शिक्षा नही प्राप्त कर पाते है, और उनके सपने अधूरे रह जाते है। अगर किसी भी देश मे शिक्षा की कमी हो तो वह देश बहुत ही ज्यादा पीछे हो जाता है।

बाल मजदूरी

किसी भी 14 साल से कम उम्र के बच्चों से अगर कोई काम कराया जाता है तो उसे बाल मजदूरी कहा जाता है बाल मजदूरी ज्यादातर दो ही कारणों से बच्चे करते हैं-

  • सबसे पहला कारण मजबूरी होता है
  • दूसरा कारण जबरदस्ती होता है।

मजबूरी

कोई बच्चा एक गरीब परिवार का है और उसके घर वाले उसे पढ़ा नहीं सकते हैं, इन गरीबो के पास इतने पैसे नही होते है कि ये अपना जीवन अच्छे से काट सके और अपने बच्चों को पढ़ा सके, इन्हें पैसों की ज्यादा जरूरत होती है इसलिए ये अपने साथ बच्चो को भी काम पर लेकर जाते है, ताकि ज्यादा पैसे कमा सके। तो फिर यहां पर बच्चो की मजबूरी होती है क्योंकि काम नही करेंगे तो खायेगे क्या।

और कुछ किसान भाइयों के घर में बच्चे होते है और ये भी अपने घर वालो का हाथ बटाने के लिए खेती में लग जाते है लेकिन सभी किसान के बच्चे ऐसा नहीं करते हैं कुछ किसान के बच्चे पढ़ाई करते हैं और उनके घरवाले खेती करते हैं और कुछ बच्चे होते हैं जो मजबूर होते हैं पढ़ाई के साथ-साथ खेती भी करना पड़ता है।

जबरदस्ती

जबरदस्ती बाल मजदूरी कराने का मतलब है कि किसी बच्चे को जबरदस्ती मारपीट कर उससे काम कराना जबकि वह बच्चा काम नहीं करना चाहता है बल्कि पढ़ना चाहता है कुछ लोगों के घरों में भी लोग ऐसा करते हैं, और कुछ बच्चे वह होते हैं जो खो जाते है या उन्हें जबरदस्ती चुरा लिया जाता है तो उनसे भी मारपीट कर जबरन बाल मजदूरी कराई जाती है।

बाल मजदूरी के नुकसान

अगर किसी भी देश में बाल मजदूरी होती है तो उसके बहुत ही ज्यादा दुष्परिणाम होते हैं-

1.  अगर किसी बच्चे से बाल मजदूरी कराई जा रही है तो उससे उसका बचपन छिन जाता है, और वह बच्चा बचपन के उन सभी जरूरी पलों को खो देता है जिसका वह हकदार है।

2. हमारे देश में बाल मजदूरी बहुत ही बड़ी समस्या है क्योंकि हमारे देश में छोटे-छोटे बच्चों को पकड़ लिया जाता है और उनसे जबरदस्ती बाल मजदूरी कराई जाती है जिससे बच्चों का जीवन खराब हो जाता है।

3. बाल मजदूरी से बच्चे कुपोषण का शिकार हो जाते हैं।

4. जब बच्चों से कोई गलती होती है तो उन्हें मारा-पीटा जाता है इससे उनके दिमाग पर गलत प्रभाव पड़ता है।

5. जिस देश में बाल मजदूरी ज्यादा होती है वह देश बहुत ही ज्यादा पीछे होता चला जाता है क्योंकि जब बच्चों को अच्छी शिक्षा नहीं प्राप्त होगी तो कई सारे ऐसे बच्चे जो आगे चलकर देश को एक अलग ही दिशा की ओर ले जा सकते थे अब वह बच्चे बिना शिक्षा के अधूरे रह गए हैं।

6. अगर किसी देश में शिक्षित लोगों की कमी होती है तो इससे उस देश में बेरोजगारी की बहुत ही बड़ी समस्या उत्पन्न हो जाती है और जो कि हमारे देश में भी बेरोजगारी की बहुत बड़ी समस्या उत्पन्न हुई है।

बाल मजदूरी के रोकथाम के उपाय

अगर हम बाल मजदूरी को रोक देता है तो इससे हमारा देश बहुत ही आगे आएगा और बेरोजगारी की समस्या से हम उभर पायेंगे बाल मजदूरी को रोकने के लिए निम्न उपाय है:-

  1. बाल श्रम को रोकने के लिए सबसे पहले हमें अपनी सोच को बदलना होगा, अगर आपके पास कोई भी दुकान या ऑफिस है तो उसमें किसी भी बच्चे को काम पर नहीं रखना है और ना ही किसी को रखने देना है।
  2. अगर आप एक बड़े व्यक्ति हैं या आपके पास उचित पैसे हैं तो अगर आपको कोई ऐसा बच्चा मिलता है जो कहीं पर काम कर रहा हो तो आप उसका काम बंद करा कर उसे किसी अच्छे स्कूल में दाखिल करवा दें।
  3. बाल मजदूरी को खत्म करने के लिए सरकार को और अच्छे से काम करना होगा और इस पर ज्यादा ध्यान देना होगा क्योंकि बच्चे ही देश का भविष्य होते हैं।
  4. अगर आप कहीं पर देखते हैं कि बाल मजदूरी हो रही है तो आप पुलिस से संपर्क करें।
  5. अगर आप के घर में पैसे की कमी है तो आप अपने बच्चे को सरकारी विद्यालय में पढ़ने के लिए भेजें क्योंकि सरकारी विद्यालयों में शिक्षा मुफ्त में मिलती है और आप ज्यादा जरूरतों को पूरी करने के लिए और मेहनत करें।
  6. अगर किसी बच्चे के माता-पिता उससे जबरन बाल श्रम करवा रहे हैं तो आप उनके माता पिता को बाल मजदूरी के नुकसान के बारे में बताएं और उन्हें समझाएं अगर फिर भी वह नहीं मानते हैं तो आप पुलिस स्टेशन में संपर्क करें।
  7. हमारे देश में बहुत से ऐसे संस्था हैं जो अपने घरों से बिछड़े बच्चों को पढ़ाती है और उनका देखरेख करती है और कुछ संस्था उन बच्चों की मदद करती है जो बाल मजदूरी करते हैं तो ऐसे संस्थाओं में आपको दान करना चाहिए।

हमारी सरकार ने बाल मजदूरी को खत्म करने के लिए 1986 में एक नया कानून लाया जिसके मुताबिक अगर किसी भी 14 वर्ष से कम बच्चे से कार्य कराया जाता है, तो उसे अपराधी माना जायेगा और नियम के अनुसार उसे दंड भी मिलेगा।

उपसंघार

हमें किसी भी बच्चे से बाल मजदूरी नहीं कराना चाहिए क्योंकि इससे बच्चों का भविष्य खराब होता है, और हमारा देश बेरोजगारी की तरफ बढ़ता है और बाल मजदूरी कर आना कानूनी रूप से अपराध है तो अगर कोई भी व्यक्ति बाल मजदूरी कराता है तो उसे सजा होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *